जेएनयू छात्र नजीब अहमद कहां है? क्या सुशांत सिंह राजपूत मामले को सुलझाएगी सीबीआई? ख़बर

बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के आत्महत्या मामले में सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुनाते हुए सीबीआई को इसकी जांच का जिम्मा सौंपा है। इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र सरकार और मुंबई पुलिस को निर्देश दिया है कि वह इस मामले से जुड़े सभी दस्तावेज और जानकारी सीबीआई को उपलब्ध कराएं।

गौरतलब है कि सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या के बाद उनके समर्थक और परिवार लगातार सीबीआई जांच की मांग कर रहे थे लेकिन बड़ा सवाल यह उठता है कि क्या सीबीआई सुशांत मामले को हल कर पाएगी? क्योंकि सीबीआई 2016 में दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) से लापता छात्र नजीब अहमद के मामले का न तो पता लगा पाई है और न ही इस मामले को हल कर पाई है।

जेएनयू कैंपस में एबीवीपी कार्यकर्ताओं के साथ लड़ाई के बाद 14 अक्टूबर 2016 की रात से नजीब गायब है। दिल्ली पुलिस द्वारा जांच किए जाने के बाद मामला सीबीआई को सौंप दिया गया था। लेकिन अभी तक नजीब अहमद से जुड़ी कोई भी जानकारी किसी भी जांच एजेंसी के पास उपलब्ध नहीं है।

इसी बीच सोशल मीडिया पर अभिनेता अजाज़ खान, स्वरा भास्कर जैसे और भी कई लोग नजीब मामले को लेकर सामने आये हैं।

यह भी पढें: शिवसेना नेता प्रताप सरनाईक ने अनव नाइक केस में अर्नब गोस्वामी पर बोला हमला

साकेत गोखले ने ट्वीट किया, "सीबीआई ने नजीब को अब तक नहीं पाया जो 2016 में जेएनयू से गायब हो गया था जब एबीवीपी ने उस पर हमला किया था। नजीब की माँ को न तो कभी न्याय मिला और न ही अंत। कोई "समाचार चैनल" उसके लिए नहीं खड़ा था। उनके नाम को ट्रेंड करने के लिए किसी ने बॉट का आयोजन नहीं किया। किसी भी राज्य के पुलिस डीजीपी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस नहीं की। सब भूल गए।"

गोखले के ट्वीट को रिट्वीट कर स्वरा भास्कर ने लिखा, "नजीब कहां है। नजीब के साथ न्याय हो। नजीब पिछले 4 साल से लापता है!"

अयाज़ खान ने नजीब की माँ की बात बताते हुए ट्वीट किया, "सितंबर 2018 में जेएनयू छात्र नजीब की मां फातिमा नफीस ने कहा, "मुझे शर्म आ रही है और दिल टूट जाता है कि हमारे देश की माने जाने वाली बेहतरीन एजेंसी ने मेरे बेटे के मामले में हाथ धोने का फैसला किया है। सीबीआई ने माना कि उस पर हमलाकिया गया, लेकिन अदालत ने दावा किया कि उसके साथ कुछ भी नहीं हुआ था। इस तरह के ज़बरदस्त झूठ।"

बता दें, जिस तरह सुशांत सिंह राजपूत के परिवार और उनके समर्थकों ने उनके निधन के मामले को निपटाने की मांग उठाई है, ठीक उसी तरह नजीब के परिवार, खासकर उनकी मां फातिमा ने कई बार अपने बेटे को ढूंढने और उसे न्याय दिलाने की गुहार लगाई है।

द न्यूस्टर्स ने पाया कि जेएनयू सहित दिल्ली विश्वविद्यालय, अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय, जामिया विश्वविद्यालय, और कई शैक्षणिक संस्थानों में 2016 से 2020 के प्रारंभ तक प्रदर्शन किए गए हैं। जिसमें सुरक्षा एजेंसियों और सरकार से एक ही सवाल पूछा गया था, क्यों इतने सालों से नजीब नहीं मिला?

hi_INHindi
en_GBEnglish hi_INHindi
%d bloggers like this: